राज्य भर में ओबीसी छात्रों के 27% आरक्षण उल्लंघन के खिलाफ सम्यक विद्यार्थी एंडोलन ऑनलाइन विरोध प्रदर्शन करता है



राज्य भर में ओबीसी छात्रों के 27% आरक्षण उल्लंघन के खिलाफ सम्यक विद्यार्थी एंडोलन ऑनलाइन विरोध प्रदर्शन करता है





संविधान के प्रावधानों के अनुसार ओबीसी छात्रों की स्नातक और स्नातकोत्तर शिक्षा में 27% सीटों का आरक्षण अनिवार्य है !!!

संवैधानिक प्रावधानों को तुरंत लागू किया जाना चाहिए!



ओबीसी छात्रों के लिए संविधान में दिए गए संवैधानिक प्रावधानों को तुरंत लागू करने के लिए, महाराष्ट्र के 36 जिलों में आज शाम 4:00 बजे सम्यक विद्यार्थी एंडोलन द्वारा इस फैसले का ऑनलाइन विरोध किया गया। चंद्रपुर जिले में सम्यक विद्यार्थी आंदोलन के कार्यकर्ताओं ने ओबीसी छात्रों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ एक ऑनलाइन आंदोलन चलाया। भारत सरकार संजय धोत्रे ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय को एक ज्ञापन सौंपा और महेश भारतीय राष्ट्रपति सम्यक विद्यार्थी एंडोलन महाराष्ट्र के मार्गदर्शन में एक ऑनलाइन विरोध दर्ज किया गया।

वंचित बहुजन अगाड़ी के राष्ट्रीय नेता और सम्यक विद्यार्थी आन्दोलन के मार्गदर्शक आदि। बालासाहेब और प्रकाश अंबेडकर ने देशभर में मेडिकल डिग्री और स्नातकोत्तर शिक्षा सहित ओबीसी छात्रों के साथ गलत व्यवहार करने के सरकार के फैसले पर ट्विटर और फेसबुक पर विरोध जताया है।

सम्यक विद्यार्थी आन्दोलन सरकार के इस अन्यायपूर्ण निर्णय के खिलाफ सार्वजनिक रूप से विरोध प्रदर्शन करते हैं। सम्यक विद्यार्थी आन्दोलन हमेशा ओबीसी छात्रों के साथ खड़ा रहेगा। हमने राज्य में ओबीसी छात्रों के लिए 16 छात्रावासों को पहले ही मंजूरी दे दी है। उसी तरह हम इस सवाल पर ओबीसी छात्रों के साथ हैं।






पिछले तीन वर्षों में, देश भर में मेडिकल डिग्री और स्नातकोत्तर अध्ययन के लिए कॉलेजों में ओबीसी छात्रों के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण के प्रावधान का गंभीर उल्लंघन हुआ है।

यह पता चला है कि ओबीसी छात्रों की 8,800 सीटों में 27 प्रतिशत आरक्षण (मंडल आयोग के अनुसार) उपलब्ध नहीं है और ये सीटें ओपन श्रेणी के छात्रों को दी जा रही हैं।

अखिल भारतीय कोटा के अनुसार, 15% सीटें अनुसूचित जाति (एससी) और 7.5% अनुसूचित जनजाति (एसटी) के लिए आरक्षित हैं। इसी तरह, अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के छात्रों के लिए 27% सीटों का आरक्षण संविधान के प्रावधानों के अनुसार अनिवार्य है।

संवैधानिक प्रावधानों का ऐसा ज़बरदस्त उल्लंघन आरक्षण के आधार के रूप में सामाजिक न्याय की बहुत अवधारणा को कमजोर करेगा। हम ओबीसी छात्रों को जानबूझकर चिकित्सा क्षेत्र से वंचित करने के लिए सरकार के इस कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं।

इससे पहले भी, हम अपराध के संदर्भ में ऑनलाइन आंदोलन में सफल रहे हैं। उसी तरह, हम ओबीसी छात्रों के लिए इस ऑनलाइन आंदोलन को सफल बनाना चाहते हैं।

OBC छात्रों को 27% संवैधानिक आरक्षण मिलना चाहिए ...

शिक्षा में ओबीसी छात्रों का आरक्षण कायम होना चाहिए ...

भारतीय संविधान के सिद्धांतों का उल्लंघन करने वाली सरकार का सार्वजनिक विरोध ...

सम्यक विद्यार्थी आंदोलन चंद्रपुर जिला अध्यक्ष धीरज तेलंग, चंद्रपुर शहर अध्यक्ष आशीष बोरवार, चंद्रपुर शहर महासचिव हर्षवर्धन कोठारकर, चिमुर तालुक अध्यक्ष शुभम मंडपे, वरुण शाखा के अध्यक्ष निखिल खोबरागड़े, जयराज भाऊराव दुधे, सुबोध पेटकर, प्रवीण मासूम, प्राची मसूरी , अब्रप्रीता गजभिए, सचिन पुनेकर, स्नेहल चिकटे, प्रतीक खांडेकर, मयूर डांगे और कई अन्य कार्यकर्ताओं ने सरकार की कार्रवाई का ऑनलाइन विरोध किया






raajy bhar mein obeesee chhaatron ke 27% aarakshan ullanghan ke khilaaph samyak vidyaarthee endolan onalain virodh pradarshan karata hai











sanvidhaan ke praavadhaanon ke anusaar obeesee chhaatron kee snaatak aur snaatakottar shiksha mein 27% seeton ka aarakshan anivaary hai !!!



sanvaidhaanik praavadhaanon ko turant laagoo kiya jaana chaahie!







obeesee chhaatron ke lie sanvidhaan mein die gae sanvaidhaanik praavadhaanon ko turant laagoo karane ke lie, mahaaraashtr ke 36 jilon mein aaj shaam 4:00 baje samyak vidyaarthee endolan dvaara is phaisale ka onalain virodh kiya gaya. chandrapur jile mein samyak vidyaarthee aandolan ke kaaryakartaon ne obeesee chhaatron ke saath ho rahe anyaay ke khilaaph ek onalain aandolan chalaaya. bhaarat sarakaar sanjay dhotre ne maanav sansaadhan vikaas mantraalay ko ek gyaapan saumpa aur mahesh bhaarateey raashtrapati samyak vidyaarthee endolan mahaaraashtr ke maargadarshan mein ek onalain virodh darj kiya gaya.



vanchit bahujan agaadee ke raashtreey neta aur samyak vidyaarthee aandolan ke maargadarshak aadi. baalaasaaheb aur prakaash ambedakar ne deshabhar mein medikal digree aur snaatakottar shiksha sahit obeesee chhaatron ke saath galat vyavahaar karane ke sarakaar ke phaisale par tvitar aur phesabuk par virodh jataaya hai.



samyak vidyaarthee aandolan sarakaar ke is anyaayapoorn nirnay ke khilaaph saarvajanik roop se virodh pradarshan karate hain. samyak vidyaarthee aandolan hamesha obeesee chhaatron ke saath khada rahega. hamane raajy mein obeesee chhaatron ke lie 16 chhaatraavaason ko pahale hee manjooree de dee hai. usee tarah ham is savaal par obeesee chhaatron ke saath hain.













pichhale teen varshon mein, desh bhar mein medikal digree aur snaatakottar adhyayan ke lie kolejon mein obeesee chhaatron ke lie 27 pratishat aarakshan ke praavadhaan ka gambheer ullanghan hua hai.



yah pata chala hai ki obeesee chhaatron kee 8,800 seeton mein 27 pratishat aarakshan (mandal aayog ke anusaar) upalabdh nahin hai aur ye seeten opan shrenee ke chhaatron ko dee ja rahee hain.



akhil bhaarateey kota ke anusaar, 15% seeten anusoochit jaati (esasee) aur 7.5% anusoochit janajaati (esatee) ke lie aarakshit hain. isee tarah, any pichhada varg (obeesee) ke chhaatron ke lie 27% seeton ka aarakshan sanvidhaan ke praavadhaanon ke anusaar anivaary hai.



sanvaidhaanik praavadhaanon ka aisa zabaradast ullanghan aarakshan ke aadhaar ke roop mein saamaajik nyaay kee bahut avadhaarana ko kamajor karega. ham obeesee chhaatron ko jaanaboojhakar chikitsa kshetr se vanchit karane ke lie sarakaar ke is krty kee kadee ninda karate hain.



isase pahale bhee, ham aparaadh ke sandarbh mein onalain aandolan mein saphal rahe hain. usee tarah, ham obeesee chhaatron ke lie is onalain aandolan ko saphal banaana chaahate hain.



obch chhaatron ko 27% sanvaidhaanik aarakshan milana chaahie ...



shiksha mein obeesee chhaatron ka aarakshan kaayam hona chaahie ...



bhaarateey sanvidhaan ke siddhaanton ka ullanghan karane vaalee sarakaar ka saarvajanik virodh ...



samyak vidyaarthee aandolan chandrapur jila adhyaksh dheeraj telang, chandrapur shahar adhyaksh aasheesh boravaar, chandrapur shahar mahaasachiv harshavardhan kothaarakar, chimur taaluk adhyaksh shubham mandape, varun shaakha ke adhyaksh nikhil khobaraagade, jayaraaj bhaooraav dudhe, subodh petakar, praveen maasoom, praachee masooree , abrapreeta gajabhie, sachin punekar, snehal chikate, prateek khaandekar, mayoor daange aur kaee any kaaryakartaon ne sarakaar kee kaarravaee ka onalain virodh kiya.
Show less

Post a Comment

0 Comments